How to start E-commerce business | ई-कॉमर्स बिजनेस कैसे शुरु करे।

E-commerce business

क्या आप भी ऑनलाइन बिजनेस शुरू करना चाहते हो तो बिल्कुल भी देरी ना करें जल्दी से जल्दी अपना ऑनलाइन बिज़नस स्टार्ट कर दें. क्योंकि कोरोना के चलते देश में लोगों का बाहर निकलना मुश्किल हो गया है. ऐसे में सारे लोग अपनी दैनिक जरुरत का सामान घर बैठे E commerce website के जरिए मगवा रहे है आप भी E-commerce business स्टार्ट करके महीने का लाखो रुपए कमा सकते हो. अगर आप भी E commerce business शुरू करना चाहते हो तो बिल्कुल भी देरी ना करें इस बिजनेस को जितना हो सके उतना जल्दी सुरु करे.
क्यों की इस बिज़नेस मे धीरे धीरे कॉम्पिटिशन बड़ रहा है.

अगर आप इस बिजनेस को सुरु करने में जितना लेट होगे अपको उतना कॉम्पिटीशन का सामना करना पड़ेगा अगर आप इस बिजनेस को जल्दी सुरु करना चाहते हो. तो आज हम आप को E-commerce business शुरू करने का पूरा प्रोसेस एस्टेप बाय ई स्टेप बताएंगे.

E-commerce business क्या है _

इ कॉमर्स बिज़नेस एक ऐसा प्लेटफार्म है. जिसके जरिए हम किसी भी प्रोडक्ट को घर बैठे ऑनलाइन बैच सकते हैं. ई-कॉमर्स के जरिए हम लाखों लोगों को अपना सामान बेच सकते हैं इसकी शुरुआत सन 1979 में अमेरिका में हुई थी.

इ कॉमर्स बिज़नेस तीन प्रकार के होते हैं.

  • B2b. B2b में हम अपना सामान एक बिजनेसमैन को बेचते हैं जिसे हम business to business (B2b) भी कह सकते हैं.
  • B2c. इस बिजनेस में हम अपना सामान कस्टमर को बेचते हैं जिसे हम business to customer (B2c) भी कह सकते हैं.
  • C2c. यह बिजनेस एक कस्टमर से दूसरे कस्टमर के बीच होता है जिसे हम customer to customer (C2c) कहते हैं.

इन सभी बिजनेस को करने के लिए हमें एक प्लेटफार्म की जरूरत होगी जिसे हम यह कॉमर्स भी कहते हैं.

E-commerce business कैसे शुरू करे_

क्या आप भी एक ई कॉमर्स बिजनेस शुरू करना चाहते हो. इकॉमर्स बिजनेस शुरू करने के लिए आपको कुछ बातें ध्यान में रखनी होगी जिसका विवरण नीचे स्टेप बाई स्टेप दिया गया है. जिसको पढ़ कर आप आसानी से इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं.

1. तय करें खुद का मार्केट प्लस या पहले से मौजूद मार्केटप्लेस _

इकॉमर्स बिजनेस प्लान शुरू करने से पहले आपको इस बात का ध्यान रखना होगा की खुद का मार्केटप्लेस खोलना चाहते हो या पहले से मौजूद मार्केटप्लेस के साथ जुड़कर इस बिजनेस को शुरू करना चाहते हो. एक कॉमर्स बिज़नेस में दो तरह के बिजनेस होते हैं

पहला खुद की वेबसाइट बना कर भी इस बिजनेस को स्टार्ट किया जा सकता है.
दूसरा पहले से मौजूद ई-कॉमर्स वेबसाइट से जुड़कर बिजनेस स्टार्ट कर सकते हो. जैसे अमेजॉन, फ्लिपकार्ट,
स्नैपडील, आदि से जुड़ कर भी आप अपना बिजनेस स्टार्ट कर सकते हो प्लेटफार्म से जुड़ने का यह फायदा होगा कि पैकिंग सर्विस डिलीवरी बॉय आदि की सुविधा मिल सकती हैं अगर आप ऊपर दिए गए प्लेटफार्म से जुड़ते हो तो. लेकिन इसमें आपको एक बात का ध्यान रखना पड़ेगा GSTIN की जरूरत होगी अब आपको डिसाइड करना है कि आप किस तरह का बिजनेस करना चाहते हो.

2. E-commerce कंपनी रजिस्टर करें.

अगर आप किस प्लेटफार्म से नहीं जुड़ना चाहते हो तो आप को अपनी खुद की एक वेबसाइट बनानी होगी. इसमें अपना बिजनेस को रजिस्टर करने की जरूरत होगी. अगर आप चाहो तो एकल स्वामित्व, पार्टनरशिप या फिर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के तौर पर रजिस्टर करवा सकते हो. याद रहे आपको अपना बिजनेस रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए जीएसटी नंबर की जरूरत होगी.

3. बिजनेस के लिए डोमेन नेम का चयन करें_

अपने बिजनेस को रजिस्टर करने के बाद आपको एक अच्छे डोमेन नेम का चयन करना होगा. जोकि आपके बिजनेस के नाम से मिलता-जुलता होना चाहिए डोमेन नेम ही आपके बिजनेस की ब्रांड वैल्यू होगी. क्योंकि आपको लोग आपकी ब्रांड वैली से पहचानेंगे इसलिए आपको डोमेन अपने बिजनेस के नाम से मिलता-जुलता ही रखना है.
आपको डोमेन बुक करते समय बहुत सारी बातों का ध्यान रखना होगा जिसका विवरण हमने नीचे दिया गया है.

  • जब भी आप डोमेन नेम बुक करो उस समय सबसे पहले यह ध्यान में जरूर रखें की आपका बिजनेस जिस नाम से हैं उसी नाम से या उसके मिलते-जुलते नाम से डोमेन बुक करें.
  • अगर आप चाहे तो अपना बिजनेस रजिस्टर करवाने से पहले भी आप डोमेन अपने बिजनेस के नाम से बुक कर सकते हो क्योंकि आपने बिजनेस पहले रजिस्टर करवा लिया है. तो हो सकता है आपको आपके बिजनेस के नाम से डोमेन नहीं मिले इसलिए आप बिजनेस रजिस्टर करवाने से पहले ही डोमेन बुक करें उसके बाद बिजनेस रजिस्टर करें.
  • डोमिन का नाम हमेशा छोटा रखें क्योंकि वह डोमेन आपको और लोगों को भी याद रहे.

4. E-commerce वेबसाइट कैसे बनाए _

डोमेन नेम खरीदने के बाद आपको एक वेबसाइट बनानी होगी वेबसाइट बनाने के लिए आप एक डेवलपर को हायर कर सकते हो. यदि आप का बजट कम हो तो आप ऐसे कंपनी से संपर्क कर सकते हो जो पहले से ऑनलाइन स्टोर प्रदान करती हो जिसमें आपको कम खर्चे में बहुत सारी फैसिलिटी मिल जाएगी.

5. विक्रेताओं को रजिस्टर करें _

वेबसाइट बनाने के बाद आपका काम या रहेगा कि आप ज्यादा से ज्यादा विक्रेताओं को अपनी वेबसाइट में रजिस्टर करवाएं क्योंकि जब तक आप की स्टोर पर कोई विक्रेता नहीं होगा. तो उस पे कोइ प्रोडक्ट भी नहीं होगा ओर प्रोडक्ट नहीं होगा तो कॉस्टमर क्या करिदेगे इसलिए आप का सबसे पहला काम अधिक से अधिक विक्रेता को आप के स्टोर के बारे में बता कर रजिस्टर करवाएं ताकि आप के स्टोर पर जादा से जादा
प्रोडक्ट लिस्ट हो सके.

6. पेमेंट ऑप्शन _

जब आपका ऑनलाइन स्टोर तैयार हो जाता है तो आपके ग्राहक को प्रोडक्ट बेचने के लिए पेमेंट ऑप्शन अपने स्टोर में लगाना होगा. जिससे आपके पास बेचे गए प्रोडक्ट का पेमेंट आ सके.
आपको अपने ऑनलाइन स्टोर को प्रॉफिट में लाने के लिए पेमेंट गेटवे को ऐड करना होगा. जिससे ग्राहकों को हर प्रकार के पेमेंट ऑप्शन मिल सके जैसे क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, बैंक यूपीआई, ऑनलाइन बैंकिंग, कैश ऑन डिलीवरी, आदि का ऑप्शन मिल पाए इन सभी को पूरा करने के लिए आपको बैंक से जुड़े कागजात और बैंक अकाउंट नंबर आपके स्टोर पर डालना होगा जिससे ग्राहक को पेमेंट करने में आसानी हो.

7.लॉजिस्टिक कंपनी से संपर्क _

जैसा कि आप सब जानते हैं ग्राहक को सामान बेचने के बाद आपकी जिम्मेदारी होती हैं. ग्राहक के सामान को उसके द्वारा दिए गए पते पर सुरक्षित पहुंचाने होता है इसके लिए आपको किसी लॉजिस्टिक कंपनी से संपर्क करना होगा. लेकिन याद रहे ऐसी कंपनी से संपर्क करें जो कम दाम में सर्विस देने के लिए तैयार हो.
क्योंकि बहुत सारे ग्राहक ऐसे भी होते हैं जिन्हें प्रोडक्ट पसंद आ जाता है लेकिन वह डिलीवरी चार्ज ज्यादा होने के कारण उसे खरीद नहीं पाते हैं. इसीलिए आपको हमेशा ध्यान रखना है की आप उसी कंपनी से संपर्क करें जिसका
डिलीवरी चार्ज बहुत कम हो

E-commerce वेबसाइट की मार्केटिंग _

इसके अलावा इसकी मार्केटिंग गूगल और फेसबुक नेट चला कर भी इसकी मार्केटिंग कर सकते हो. जिससे आप ज्यादा से ज्यादा ग्राहक तक पहुंच सकोगे आप एफिलिएट मार्केटिंग के जरिए भी अपनी मार्केटिंग कर सकते हो.

आपकी वेबसाइट पूरी तरह तैयार होने के बाद आपको उसकी मार्केटिंग करनी होगी ताकि ज्यादा से ज्यादा ग्राहक आप से जुड़ सकें मार्केटिंग करने के लिए आप सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर सकते हैं. जैसे फेसबुक पेज बनाकर, इंस्टाग्राम पेज बनाकर, और व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर भी कर सकते हो. इसमें आपको रेफर एंड अर्न का ऑप्शन रखना होगा जिससे लोग आपकी वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा रेफर करेंगे उससे लोगों को भी फायदा होगा. और आप भी ज्यादा से ज्यादा लोगों को तक पहुंच सकोगे.
इस तरह आप ऑनलाइन ई-कॉमर्स का बिजनेस शुरू कर सकते हैं.

अन्य पढ़े –

Product exchange business कैसे शुरु करे।

Online teaching business कैसे शुरु करे।

Leave a Comment