2022 में कृषि सेवा केंद्र कैसे खोले | how to start krishi seva kendra

भारत में किसान को अन्न का दाता कहा जाता है. सरकार भी किसानों के फायदे के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं.
किसानों को खेती से सम्बंधित सामान उपलब्ध करवाने के लिए हर गांव में एक कृषि सेवा केंद्र खोलने के लिए युवाओं की मदद कर रही है. जिससे किसानों को खेती से जुड़ी जानकारी व समान के साथ साथ युवाओं को रोजगार भी मिल सके.
आधुनिक युग मे किसान अपनी आय को बढ़ाने के लिए दवाइयों और खाद उर्वरक का उपयोग करता है. जिसके लिए वह krishi seva kendra पर जाकर फसल से संबंधित जानकारी लेकर अपनी फसल उत्पादन बढ़ाने के लिए दवाइयों और खाद आवश्यकता अनुसार उपयोग में लाता है.

ऐसे में अपने गांव में कृषि सेवा केंद्र खोल कर किसानों की सहायता करने के साथ साथ अपना खुद का व्यापार भी शुरू कर सकते हो.

यदि आप krishi seva kendra खोलना चाहते तो हमारे अंत तक बने रहे हैं. आज हम आपको कृषि सेवा केंद्र कैसे खोले इसके बारे में पूरी जानकारी स्टेप बाय स्टेप विस्तारपूर्वक बताएंगे.

Krishi seva Kendra

Table of Contents

कृषि सेवा केंद्र क्या है ( what is krishi seva kendra)

कृषि सेवा केंद्र वह केंद्र है जिसके अंदर किसानों को फसल से संबंधित पूरी जानकारी दी जाती है. और साथ में फसलों के लिए उर्वरक खाद बीज दवाइयां भी उपलब्ध करवाई जाती है. जिसके जरिए किसान अपनी फसल को कीटनाशक रोग से बचाकर फसलों का अधिक से अधिक उत्पादन निकाल सके.

हम आपको बता दें कि krishi seva kendra खोलने के लिए डिग्री की आवश्यकता होती है. इसीलिए आपका पढ़ा लिखा होना जरूरी है. क्योंकि कृषि केंद्र में कृषि से रिलेटेड उर्वरक दवाइयों का नॉलेज लेने के लिए आपका पढ़ा लिखा होना बहुत ही जरूरी है.

यह भी पढ़ें – अदरक की खेती कैसे शुरू करे

कृषि सेवा केंद्र कैसे खोले (how to start krishi seva kendra)

हम आप को बता दे की आप कृषि केंद्र खोलकर किसानों की सहायता करने के साथ साथ अच्छा मुनाफा भी कमा सकते हो. चलिए जानते हैं कि कृषि सेवा केंद्र कैसे खोले

Krishi seva Kendra

कृषि सेवा केंद्र खोलने के लिए योजना बनाएं ( planning in krushi seva kendra)

krishi seva kendra खोलने के लिए सबसे पहले आप को योजना बनानी होगी. ताकि आपको पता चल सके कि कृषि सेवा केंद्र खोलने के लिए हमें क्या-क्या करना होगा.
योजना बनाने के लिए निम्न बिंदुओं को ध्यान में रख सकते हो.

  • सबसे पहले यह पता करना होगा कि कृषि केंद्र खोलने के लिए मैं कौन से डिग्री की आवश्यकता है.
  • फिर हमें इस बिजनेस को शुरू करने के लिए दुकान की आवश्यकता होगी.
  • krishi seva kendra से संबंधित लाइसेंस भी लेना होगा.
  • किसान सेवा केंद्र खोलने के लिए उर्वरक खाद बीज दवाइयों की जानकारी होना बहुत ही जरूरी है. क्योंकि बिना जानकारी आप इस बिजनेस को नहीं शुरू कर सकते हो.
  • आपको यह भी पता करना होगा कि कृषि केंद्र की दुकान खोलने के लिए कितने पैसे की आवश्यकता होगी.

इस तरह इन निम्न बिंदुओं को ध्यान में रखकर एक योजना बना सकते हो. जिससे आपको पता चल सके कि हमें इस बिज़नेस में कौन-कौन सी चीजों की आवश्यकता होगी.

यह भी पढ़े – डेयरी फार्म बिजनेस कैसे शुरू करे

कृषि सेवा केंद्र की मार्केट रिसर्च ( marketing research)

इसके लिए आप को कृषि से संबंधित सारी जानकारी लेना आवश्यक है. क्यो की बिना जानकारी के इस बिजनेस को शुरू करना संभव नहीं है.
यदि आप चाहे तो गांव में जाकर किसानों की समस्या को हल निकाल कर उन की साहायता भी कर सकते हो. जिससे आप को कृषि से संबंधित सारी जानकारी का अनुभव अच्छे से हो जाएगा.

इस तरह आप कृषि से संबंधित जानकारी जैसे कीटनाशक दवाई,खाद,बीज आदि की जानकारी अच्छे से लेने के बाद ही आप कृषि सेवा केंद्र खोले. जिससे आप किसानों को बहुत ही आसानी से फसलों के बारे में जानकारी दे पाओगे
और इसके अलावा आप उन्हे समय समय पर कीटनाशक दवाई का छिड़काव करने की सलाह भी दे सकते हो.

यह भी पढ़े – बकरी पालन का व्यवसाय केसे शुरू करे

कृषि सेवा केंद्र खोलने के लिए योग्यता
( Eligibility for opening a service center)

krishi seva kendra खोलने के लिए आपके पास Bsc in agriculture या फिर BSc in chemisry की डिग्री होना आवश्यक है.
यदि आपके पास इन दोनों डिग्री में एक भी डिग्री होगी तो आप तीन तरह के लाईसेंस ले सकते हो. जिसमे आप कृषि सेवा केंद्र के साथ खाद भंडार ओर बीज भंडार का लायसेंस भी ले सकते हो.
लेकिन यदि आप के पास यह दोनों डिग्री नहीं है तो आप खाद भंडार और बीज भंडार का लाइसेंस लेकर दुकान खोल सकता हो.

किन्तु यदि आप किसान सेवा केंद्र खोलना चाहते हो और आपके पास डिग्री नहीं है. तो इसके लिए एक और रास्ता है.जिसमे आपको यह देखना होगा कि आपके रिश्तेदार में ऐसा कोई व्यक्ति है जिसके पास इन दोनों डिग्री में से एक डिग्री है तो आप उनके नाम से लाइसेंस लेकर krishi seva Kendra खोल सकते हो. ज्यादातर लोग आज के समय ऐसा ही करते हैं.
इस के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने जिला के कृषि विभाग में जाकर जानकारी प्राप्त कर सकता हो. वहां से आपको योग्यता के बारे में अच्छे से जानकारी हो जाएगी.

किसान सेवा केंद्र खोलने के लिए जगह ( Kisan seva Kendra in place)

किसान सेवा केंद्र खोलने के लिए आपको ऐसी जगह का चयन करना होगा जहां पर किसानों को आना-जाना अधिक हो. जिसके लिए आप गांव के अंदर चौराहा पर या फिर गांव के बाहर जगह का चयन कर सकता हो.
यदि आप शहर के मुकाबले दवाइयों और खाद को कम कीमत में उपलब्ध करवाएंगे तो किसान शहर जाने के मुकाबले आपके पास आना पसंद करेगा. जिससे उसे कम कीमत में समान के साथ-साथ उचित जानकारी भी मिल सके.
इसके अलावा यदि आप चाहो तो इसे धान मंडी में भी खोल सकते हो क्योंकि वहां पर भी किसानों को आना जाना बहुत अधिक मात्रा में लगा रहता है.

जगह का चुनाव करते वक्त इस बात का ध्यान रखना है.की यदि आप गांव में दुकान खोलना चाहते हो तो आपको ऐसे गांव का चयन करना होगा जहां पर किसानों की जनसंख्या अधिक हो ताकि आप की दुकान अच्छे से चल सके.

दुकान के साथ गोडाउन ( godown)

दुकान के साथ आप को एक बड़े गोडाउन की जरूरत होगी. क्योंकि यदि आप दवाइयों के साथ-साथ खाद बीज भी रखते हैं तो आपको एक बड़े गोदाम की आवश्यकता भी होगी. जिसमे खाद और बीज को आसानी से रखा जा सके.
क्यो की एक छोटी सी दुकान में अधिक मात्रा मे खाद और बीज को रखना असंभव है इसीलिए आप को एक गोदाम की जरूरत होगी.
और यदि आप सिर्फ दवाई की ही दुकान खोलना चाहते हो तो आप को गोडाउन की आवश्यकता नहीं होगी.

कृषि सेवा केंद्र का लाइसेंस लेने कि प्रक्रिया ( krushi seva kendra License)


krishi seva kendra खोलने लेने लिए हमे लाइसेंस की आवश्यकता होती है. तभी हम कृषि केन्द्र खोल सकते है. चलिए जानते हैं विस्तार पूर्वक लाईसेंस लेने की प्रक्रिया के बारे में.

आवश्यक दस्तावेज (required document)

Krishi seva Kendra का लाइसेंस लेने के लिए हमे कुछ जरूरी दस्तावेज की आवश्यकता होगी. जैसे

  • आधार कार्ड: आवेदन करते हमे में ओरिजिनल आधार कार्ड की आवश्यकता होगी.
  • वोटर आईडी कार्ड : आधार कार्ड के साथ-साथ वोटर आईडी कार्ड की जरूरत होगी.
  • पासपोर्ट साइज फोटो: आवेदन करने के लिए पासपोर्ट साइज फोटो की भी आवश्यकता होगी.
  • जमीन का प्रमाणित पत्र: आप जिस भी जगह में दुकान खोलना चाहते हो उसका ब्लूप्रिंट होना आवश्यक है. और यदि आप दुकान को किराए से लेकर कृषि सेवा केंद्र खोना चाहते हैं तो इसके लिए आप को demand draft मैं एग्रीमेंट करवाना होगा.
  • Noc प्रमाण पत्र: noc प्रमाण को हमे सरपंच या नगर निगम अध्यक्ष से प्राप्त करना होगा.
  • डिग्री लेना होगा: किसान सेवा केंद्र खोलने के लिए हमे Bsc in agriculture या BSc in chemisry की डिग्री लेनी होगी.
  • Principal certificate : हमे जिस भी कंपनी का खाद, बीज, बेचना है उस कंपनी से principal certificate लेना होगा. प्रिंसिपल सर्टिफिकेट लेना बहुत ही जरूरी है क्योंकि इसका विवरण कृषि विभाग के पास ना चाहिए.

लाइसेंस लेने के लिए फिस ( License price)

कृषि केंद्र का लाइसेंस लेने के लिए हमे कुछ फीस देनी होगी. जोकि अलग अलग लाइसेंस के लिए अलग अलग फीस निर्धारित की गई है. जैसे:

  • बीज के लिए ( 1000 रुपए)
  • खाद के लिए ( 1250 रुपए)
  • कीटनाशक के लिए ( 1500 रुपए)

यह फीस आपको लाइसेंस का फार्म अप्लाई करते वक्त बैंक के चालान के मध्यम से जमा करनी होगी. किन्तु याद रहे यह फीस अलग अलग राज्यों में अलग अलग भी हो सकती है.

लाइसेंस के लिए आवेदन कैसे करें ( apply for license)

ऊपर बायते गए सारे दस्तावेज को एकत्रिक करने के बाद ही आप लाइसेंस के लिए आवेदन करे अन्यथा आपका फॉर्म रिजेक्ट कर दिया जा सकता है.
कृषि सेवा केंद्र का लाइसेंस लेने के लिए दो तरीकों से आवेदन किया जा सकता है.

ऑनलाइन: यदि आप krishi seva kendra के लिए ऑनलाइन अप्लाई करना चाहते हो तो इसके लिए आप को CSC centre या online choice सेंटर पर जाकर आवेदन करना होगा.

ऑफलाइन: और यदि आप ऑफलाइन तरीके से आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने जिले के कृषि विभाग में जाकर अप्लाई करना होगा.

सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन करने के बाद हमें 28 से 60 दिनों तक का इंतजार करना होगा. हमारे द्वारा दिए गए डॉक्यूमेंट क्रॉस चेक किया जाएगा. दी गई जानकारी सही निकलने पर हमारा लाइसेंस approv कर दिया जाएगा. उसके बाद हम दुकान खोल सकते है.

कृषि सेवा केंद्र के लिए दावाई और खाद बीज ( dawai and compost seeds for krishi seva kendra)

krishi seva kendra का लाइसेंस मिलने के बाद हमें दुकान के लिए कीटनाशक दवाई और खाद, बीज लाना होता हैं. इसके के लिए हमें बड़े बड़े डिस्ट्रीब्यूटर से बात करके हर तरह का माल मंगवा होगा. ताकि किसानों को आसानी से उसकी समस्या का हल निकाल कर दवाइयां और खाद, बीज की सलाह दे सकें,
आप के पास सभी प्रकार की दवाइयां उपलब्ध होनी चाहिए. क्योंकि बहुत सारे किसान ऐसे भी होते है जो दवाइयों के बारे में जानकारी रखते हैं. उन्हें उसी कंपनी की दवाई चाहिए जो वह हर साल युस करते हैं‌. इसलिए आपको सभी प्रकार के कंपनियों से कांटेक्ट करके अलग अलग प्रकार की दवाईया रखनी होगी ताकि ग्राहक आपकी दुकान से खाली न जाय.

लेकिन याद रहे आपको दवाइयां, खाद और बीज को मार्केट से कम मूल्य में उपलब्ध करवाना होगा. तभी किसान आपके पास दवाई लेने आएगा इसलिए आपको मूल्य का भी ध्यान रखना होगा.

कृषि सेवा केंद्र खोलने के लिए स्टॉफ ( Agricultural Service Center Opening Staff)

कृषि केंद्र खोलने के लिए आपको तीन चार लोगो की आवश्यकता होगी. जिसमें एक कृषि के उचित परामर्श के लिए और एक कृषि से संबंधित दवाई की जानकारी देने के लिए और एक पेगेजिंग के लिए चाहिए होगा. इसके अलावा यदि आप साथ मे खाद, बीज भी रखते हो तो उसके लिए भी आप को एक लडके की जरूर होगी जो किसानों को खाद, बीज दिखा सके.

यदि आप इसे छोटे स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आपको अधिक स्टॉफ रखने की आवश्यकता नहीं है. सिर्फ एक लड़के को रख कर भी शुरू कर सकते हो. क्यो की ज्यादातर लोग ऐसा ही करते है. वह अपने krishi seva kendra के लिए ज्यादा बड़ा स्टॉफ नहीं रखते है. वह सिर्फ एक या दो कर्मचारियों को रखते है जो किसानों को दवाई व खाद बीज दिखा सके आप भी ऐसा ही कर सकते हो जिससे आप का पैसा बच सके.

कृषि सेवा केंद्र खोलने में लागत ( krishi seva kendra Cost)

शुरुवात में आप को छोटे स्तर पर ही शूरू करना है जैसे जैसे आप को इस बिजनेस में अनुभव होता जाय उस हिजाब से आप अपने बिजनेस को बड़ा सकते हो.

छोटे स्तर पर शुरू करने के लिए आप को 4 से 5 लाख रुपए की आवश्यकता होगी. यदि आप अकेले इतना पैसा नहीं लगा सकते हो तो आप अपने रिश्तेदार या अपने दोस्त के साथ मिल कर भी शुरू कर सकते हो. लेकिन आप को ऐसे दोस्त या रिश्तेदार को चुनना है जो इस बिजनेस मे इंटरस्टेड हो. नहीं तो आप को बाद मे प्रॉब्लम हो सकती है.

पार्टनरशिप करने से आपको बहुत सारे फायदे भी हो सकते हैं. जैसे: इनवेस्टमेंट कम करना पड़ेगा, कृषि केंद्र के लिए स्टॉप की आवश्यकता नहीं होगी दोनो मिलकर काम कर सकते हो,यदि बजट अधिक हो तो साथ में खाद बीज की दुकान भी खोल सकते हो, किसी भी समस्याओं का अकेले को सामना नहीं करना होगा दोनों मिलकर उस समस्या का हल निकाल सकते हो.

इस तरह यदि आपके पास बजट कम है तो आप पार्टनरशिप करके भी कृषि सेवा केंद्र खोल सकते हो.

कृषि सेवा केंद्र में लाभ (profit in krishi seva kendra)

इस बिजनेस मे आप आसानी से 20 से 40 % का मुनाफा कमा सकते हो. आज के समय में दवाई, खाद और बीज की मांग बहुत बढ गई है. हर मौसम के हिसाब से अलग अलग दवाइयों और खाद बीज का उपयोग किया जाता है.
ऐसे में यदि आप इसका बिजनेस शूरू करते हो तो आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हो. क्यो दवाइयों की कंपनियों का मार्जिन अलग अलग भी होता है. किसी मे आप को कम मार्जिन मिलेगा तो किसी मे अधिक मार्जिन मिल सकता है.
बहुत सारे लोग इस बिजनेस को पहले से करके बहुत अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं. इसी तरह आप भी इस बिजनेस से अच्छा मुनाफा कमा सकते हो.

कृषि सेवा केंद्र के लिए लोन केसे ले ( How to take loan for Krishi Seva Kendra)

यदि आप इस व्यवसाय के लिए लेना चाहते हो तो आपको इसके लिए कुछ दस्तावेज की जरुरत होगी.
जैसे:

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक स्टेटमेंट
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बिजनेस का प्रमाण पत्र

आदि जैसे दस्तावेजों को लेकर अपनी नजदीकी बैंक में जाकर लोन के लिए अप्लाई कर सकते हो.
लेकिन याद रहे लोन के लिए आपके पास इन सभी दस्तावेज का होना आवश्यक है तभी आप लोन ले सकते हो.

कृषि सेवा केंद्र की मार्केटिंग (!marketing of krushi seva kendra)

शुरुवात मे आपको मार्केटिंग करना आवश्यक है. क्यो की जब आप का बिजनेस नया नया होता है और लोगो को इसके बार मे पता नही होता है. इसलिए आप को शुरूवात में मार्केटिंग करने की जरूरत होगी. इस के लिया आप बिजनेस का पोस्टर या पेंप्लेड छपवा कर बटवा सकते हो

इसके अलावा आप शुरूवात मे दवाइयों पर ऑफर या कुछ फ्री गिफ्ट देकर ग्राहक को अपनी और आकर्षित कर सकते हो और यदि आप चाओ तो किसान परामर्श की सलाह भी मुक्त कर सकते हो ताकि अधिक से अधिक किसान आप के केंद्र पर आसके.

कृषि सेवा केन्द्र में जरूरी बातें ( important things in
Krushi seva Kendra)

कृषि सेवा केंद्र शुरू करने के लिए आप को कुछ बातों का ध्यान रखना होगा

  • krishi seva kendra का लाइसेंस लेने के लिए उपर लेख में बताए गए सभी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी बिना दस्तावेज क्या आप कृषि केंद्र नहीं खोल सकते हो
  • इसके अलावा आपको कृषि से रिलेटेड सारी दवाइयों और खाद, बीज की जानकारी होना चाहिए. ताकि आप किसानों को दवाइयों के बारे में बारीकी से समझा सको
  • शुरूवात मे आप को ग्राहक जोड़ने पर फोकस करना है ना की अधिक मार्जिन पर. क्यो की एक पर ग्राहक आप पर विश्वास करने लग जाएगा तो वह हमेशा आप की शॉप पर आना ही पसंद करेगा जिससे वह लेंबे समय तक आप का कस्टमर बाना रहे गा.
  • किसानों को समय समय पर कुछ न कुछ ऑफ़र देते रहे जिससे किसनों के साथ आप का व्यवहार बना रहेगा.
  • किसनों को दवाई कभी कभी उधार भी देनी होगी. क्यो की ज्यादातर किसान पैसा नहीं होने के कारण दवाई उधार ही खरीद ते इसीलिए आप को भी उधार देना होगी.
  • लेकिन याद रहे आप उधार सामान उसी को देना है जिसे आप पहचानते हो जिसे आप नहीं पहचानते उसे उधार नहीं देना है. नहीं तो आप का पैसा डूब भी सकता है. हाला की ऐसा नहीं होता है. लेकिन फिर भी कुछ केसेस मे ऐसा हो सकता है. इसके आप अपनी जिमेदारी पर ही उधार दे.

कृषि सेवा केंद्र खोलने में रिस्क( risk in krushi seva Kendra)

अब तक हमने कृषि सेवा केंद्र कैसे खोले इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर ली है अब हमे यह जानना भी जरूरी है कि krishi seva kendra मे जोखिम क्या हो सकती है.

  • इस काम में रिस्क बहुत अधिक होता है. क्यो की बहुत सी दवाईया ऐसी भी होती है जो समय पर नहीं बिकने पर एक्सपायर हो जाती है. जिससे आप को बहुत सारा नुकसान हो सकता है.
  • कई बार मौसम के बदलाव के कारण बिक्री मे दिक्कत आती है जिससे सामान खराब होने का जोखिम होता है.
  • किसानों को गलत दवाई देने पर किसान का नुकसान हो सकता. जिसके लिऐ आप जिमेदर हो सकते हो.
  • इसीलिए किसनों को दवाई देते वक्त उसे अच्छी तरह से समझाना होगा कि दवाई कितनी मात्रा में डालनी है और उस का किस तरह इस्तेमाल करना है.
  • इस तरह आप को कुछ जोखिमो का सामना भी करना पड़ सकता है.

निष्कर्ष

उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा बताई गई जानकारी आपको पसंद आई होगी. जिसमें आपको कृषि सेवा केंद्र कैसे खोले उसके बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी बताई गई है. यदि फिर भी आपके मन मे इस लेख के संबंधित कोई भी सवाल है तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं.

FAQ

कृषि सेवा केंद्र क्या है ?

कृषि सेवा केंद्र वह केंद्र है जहां पर किसानों की सहायता करने के साथ-साथ फसल से संबंधित दवाइयां, खाद और बीज उपलब्ध कराए जाते हैं.

कृषि सेवा केंद्र कैसे खोलें ?

इसके लिए सबसे पहले आपके पास bsc agriculture की डिग्री होना आवश्यक है. उस के बाद आप को कृषि सेवा केंद्र को लाइसेंस लेना होगा. लाईसेंस मिलने के बाद ही आप इसे शुरू कर सकते हो.

Krishi seva Kendra योजना कब आरंभ की गई थी ?

यह योजना 2002 में आरंभ की गई थी इसका उद्देश्य बरोजगार युवाओं को रोजगार देने के साथ-साथ किसानों को कृषि से संबंधित जानकारी देकर फसलों का उत्पादन बढ़ाना था.

कृषि सेवा केंद्र का लाइसेंस लेने के लिए कौन कौन से दस्तावेज की आवश्यकता होगी ?

इसमें आपको निम्नानुसार दस्तावेजों की आवश्यकता होगी.
• आधार कार्ड
• वोटर आईडी कार्ड
• पासपोर्ट साइज फोटो
• जमीन का प्रमाणित पत्र
• Noc प्रमाण पत्र
• Principal certificate
• Bsc agriculture certificate

कृषि सेवा केंद्र में लाभ ?

इस बिजनेस में आप 20 से 40% का मुनाफा कमा सकते हो.

कृषि सेवा केंद्र खोलने में कितने पैसे की आवश्यकता होगी

छोटे स्तर पर शुरू करने के लिए 4 से 5 लाख रुपए की आवश्यकता होगी.
लेकिन यदि आप इसे बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आपको 8 से 10 लाख रुपए की आवश्यकता होगी.

Leave a Comment