मसाला उद्योग कैसे शुरू करे 2022, लागत , उत्पादन करने वाले राज्य, कच्चा माल,लाभ, मार्केटिंग, आवश्यक, लाईसेंस (how to start masala business in hindi,Spice meking business, profit, raw material, marketing, cost)

भारत में प्राचीन काल से ही मसालों का उत्पादन किया जाता है. इसीलिए यहां पर मसाला उद्योग करना आप के लिऐ बहुत ही लाभदायक साबित हो सकता है. भारत देश को मसालो का घर भी कहा जाता है. क्यो की इंडिया में कई तरह के मसालों का उत्पादन किया जाता है जिसकी पैदावार बहुत अच्छी होती है. जैसे हल्दी, मिर्च, जीरा, धनिया, लहसुन, पुदीना आदि का उत्पादन भारत में बहुत अधिक किया जाता है.
मसालों का उपयोग हर तरह के खाने में किया जाता है. यह एक ऐसा प्रोडेक्ट है. जिसके इस्तमाल से खाने में चार चांद लगाए जा सकते है.इसके इस्तेमाल से खाना स्वादिष्ट और खुशबूदार बन सकता है. यदि आप एक ऐसा व्यवसाय शूरू करना चाहते हो जिसकी मार्केटिंग डिमांड अधिक हो और उस बिजनेस को आसानी से किया जा सके तो आपके लिए मसाला उद्योग बहुत अच्छा बिजनेस साबित हो सकता है.
यदि आप masala udyog को शुरू करने की शोच रहे हो तो हमारे साथ अंत तक बने रहे हम आप को मसाला उद्योग के बारे में पूरी जानकारी विस्तार पूर्वक बताएंगे.

मसाला उद्योग

Table of Contents

मसाला उद्योग क्या है ( what masala business in hindi)

मसाला उद्योग से अभिप्राय उन उद्योग से जिसमे मसाले को पीसकर इस तरह तैयार किया जाता है, कि उसका उपयोग खाने में बहुत ही आसान तरीके से किया जा सके.
सीधे शब्दों में कहें तो मसालो को पीसकर पाउडर के रूप में तेयार करके उसे पेक कर के मार्केट में बेचना ही मसाला उद्योग कहलाता है. भारत में बहुत सी कंपनियां है जो इस उद्योग को पहले से कर रही है. जैसे MDH, Everest,Catch इत्यादि कंपनी spice business को पहले से कर रही है. इसी तरह आप इस बिजनेस को शुरू कर सकते हो.

भारत में प्राचीन काल से ही मसालों का उत्पादन किया जाता है. इसीलिए यहां पर masala udyog करना आप के लिऐ बहुत ही लाभदायक साबित हो सकता है. भारत देश को मसालो का घर भी कहा जाता है. क्यो की इंडिया में कई तरह के मसालों का उत्पादन किया जाता है जिसकी पैदावार बहुत अच्छी होती है. जैसे हल्दी, मिर्च, जीरा, धनिया, लहसुन, पुदीना आदि का उत्पादन भारत में बहुत अधिक किया जाता है.

मसालों का उपयोग हर तरह के खाने में किया जाता है. यह एक ऐसा प्रोडेक्ट है. जिसके इस्तमाल से खाने में चार चांद लगाए जा सकते है.इसके इस्तेमाल से खाना स्वादिष्ट और खुशबूदार बन सकता है. यदि आप एक ऐसा व्यवसाय शूरू करना चाहते हो जिसकी मार्केटिंग डिमांड अधिक हो और उस बिजनेस को आसानी से किया जा सके तो आपके लिए मसाला उद्योग बहुत अच्छा बिजनेस साबित हो सकता है.

यदि आप इस बिज़नेस को शुरू करने की शोच रहे हो तो हमारे साथ अंत तक बने रहे हम आप को मसाला उद्योग के बारे में पूरी जानकारी विस्तार पूर्वक बताएंगे.

मसाला उद्योग

मसाला उत्पादन करने वाले राज्य ( Spice producing states)

मसाला बिजनेस को शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको यह पता करना होगा कि भारत के कौन से राज्य में कौन से मसाले का उत्पादन अधिक होता है. जिससे आपको यह पता चल सके कि आपको किस तरह का मसाला बनाना है.
मसाला उत्पादन करने वाले राज्यों की लिस्ट निम्न बिंदुओं में दर्शाई गई है.

  • धनिया: धनिया के बीज और पत्ते दोनों को उपयोग में लाया जाता है इसका उत्पादन उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, एवं राजस्थान में किया जाता है.
  • जीरा एवं सौंप: जीरा एवं सौंप का उपयोग सब्जियों में डालने के लिए किया जाता है उसका उत्पादन मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश ,गुजरात एवं राजस्थान में किया जाता हैं.
  • अजवायन: अजवाइन का उत्पादन उत्तर प्रदेश एवं पंजाब में होता है.प
  • लोंग: कर्नाटक तमिलनाडु और केरल में लोंग का उत्पादन अधिक मात्रा में होता है.
  • मिर्च: मिर्च का उपयोग सभी प्रकार के नमकीन पदार्थ या तीखे पदार्थ बनाने में किया जाता है. जिसका उत्पादन मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, उड़ीसा, गुजरात, राजस्थान, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र आदि राज्यों में किया जाता है.
  • हल्दी: पश्चिम बंगाल, आंध्रप्रदेश, उड़ीसा, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, अरुणांचल प्रदेश, बिहार, असम, केरल, महाराष्ट्र, मेघालय, त्रिपुरा, आदि राज्यों में हल्दी का उत्पादन किया जाता है.
  • मैथी:मेथी का उत्पादन उत्तर प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, आदि मे किया जाता है.
  • अदरक: अदरक का उत्पादन अलग-अलग राज्यों में जैसे केरल, महाराष्ट्र, अरुणाचल, प्रदेश, पश्चिम, बंगाल, उड़ीसा, मेघालय, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, झारखंड, छत्तीसगढ़, मिजोरम ,कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, सिक्किम आदि जगह किया जाता है.
  • इलायची: इलायची दो प्रकार के होते हैं बड़ी इलायची छोटी इलायची.
  • छोटी इलायची का उत्पादन तमिलनाडु कर्नाटक केरल में किया जाता है.
  • बड़ी इलायची का उत्पादन पश्चिम बंगाल और सिक्किम में किया जाता है.
  • लहसुन: लहसुन का उत्पादन कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़, बिहार, गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, उड़ीसा, मध्य प्रदेश, आदि जगह बहुत अधिक किया जाता है.
  • जायफल एवं जावित्री: केरल और तमिलनाडु में इसका उत्पादन किया जाता हैं.
  • केसर: इसका उत्पादन जम्मू और कश्मीर किया जाता है.
  • दालचीनी: इसका उत्पादन भी केरल एवं तमिलनाडू किया जाता है
  • अजोवन: आजोवन का उत्पाद बिहार, जम्मू और कश्मीर किया जाता है
  • सरसों: उत्तर प्रदेश, बिहार, आंध्र प्रदेश में सरसों का उत्पादन किया जाता है.
  • वेनिला: वैनिला का उत्पादन तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक जैसे राज्य में किया जाता है.
  • कैम्बोज: इसका उत्पादन केरल और कर्नाटक में होता है.
  • अनार के बीज: अनार के बीज की पैदावार महाराष्ट्र और तमिलनाडु की जाति है.
  • सोया बीज: इसका उत्पाद राजस्थान और गुजरात में किया जाता है.
  • कोकम: कोकन का उत्पाद कर्नाटक में किया जाता है.
  • टेजपता: सिक्किम और अरुणांचल प्रदेश में तेजपत्ता का उत्पादन किया जाता है.

मसाला बिजनेस की योजना बनाए ( masala business in hindi )

यदि आप एक मसाला उद्योग शुरू करना चाहता हो तो सबसे पहले आपको प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनानी होगी. जिसमें आपको निम्न बिंदुओं को दर्शना होगा.

  • सबसे पहले आपको यह पता करना होगा कि मसाला उद्योग बिजनेस शुरू करने के लिए कितने पैसों की आवश्यकता होगी.
  • फिर आपको इस बिजनेस को शुरू करने के लिए जगह का बंदोबस्त करना होगा.
  • उसके बाद आपको मशीनों की जानकारी लेनी होगी कि इस बिजनेस में हमें कौन-कौन सी मशीनों की आवश्यकता होगी.
  • अब आपको यह पता करना होगा कि मसाला बिजनेस में कौन-कौन से रॉ मटेरियल की आवश्यकता होगी.
  • मसाला उद्योग शुरू करने के बाद इसकी मार्केटिंग किस तरह की जा सकती हैं. उसकी जानकारी लेनी होगी.
  • मसाला उद्योग का रजिस्ट्रेशन किस तरह करवाना होगा.
  • इसके अलावा आपको यह देखना होगा कि इस बिजनेस में कितना मुनाफा कमाया जा सकता हैं.
  • इन सभी बिंदु को ध्यान में रखकर आपको एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट बना लेनी है. जिससे आपको पता चल सके कि आप इस बिजनेस को किस तरह शुरू कर सकते हो.

मसाला उद्योग के लिए जगह ( Location in masala business ideas in hindi )

Masala udyog शुरू करने के लिए आप को जगह की आवश्यकता होगी. जगह का सिलेक्शन आप कहीं भी कर सकते हो. यदि आप इसे अपने गांव से शुरू करना चाहते हो तो, आपको गांव में ऐसी जगह को देखनी होगी. जहां पर आप इस बिजनेस की मशीन और रॉ मटेरियल रखकर इस आराम से इस बिजनेस को शुरू कर सको. इसी प्रकार यदि आप इस बिजनेस को शहर में शुरू करना चाहते हो तो 150 वर्ग जगह की आवश्यकता होगी. जिसे आप किराए से भी ले सकते हो या फिर आपके पास खुद की जगह हो तो आप वही पर इस बिजनेस को शुरू कर सकते हो.

इस के अलावा आप आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप जिस जगह का चुनाव कर रहे हो वहा पानी और बिजली व्यवस्था हो. क्यो की आप बिना पानी और बिजली के इस बिजनेस को शुरू नहीं कर पाओगे इसलिए आपको बिजली और पानी की व्यवस्था का जरूर ध्यान रखना होगा.

यह भी पढ़े – चाय पत्ती की फैक्ट्री केसे शुरू करे

मसाला उद्योग को शुरू करने में लागत( cost of starting masala udyog)

Spice meking business को आप 2 तारीखों से शुरू कर सकते हो पहला है छोटे स्तर में और दूसरा बड़े स्तर पर

छोटे स्तर पर: यदि आप masala business in hindi को छोटे स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आप इसे बहुत ही कम पूंजी में शुरू कर सकते हो. क्योंकि छोटे स्तर पर शुरू करने के लिए आप को मशीनों की आवश्यकता नहीं होगी. यदि आप अपने बिजनेस को छोटे स्तर पर शुरू कर रहे हो तो आप मसाले को अपने हाथों से भी बना सकते हो. जिससे आपको मशीनों का खर्च बच सकता है. इसके अलावा आपको सिर्फ रॉ मटेरियल, पैकेजिंग और रजिस्ट्रेशन का खर्च करना होगा. अब आपके मन में यह सवाल आता होगा कि यदि हम इसे कम खर्चे में शुरू करें तो इसके लिए कितना पैसा लगेगा. तो हम आप को बता दे की आप masala udyog को 30 से 40 हजार रुपए में शुरू कर सकते है. उसके बाद जैसे-जैसे आप का प्रोफिक बढ़ता जाए वैसे वैसे आप अपने बिजनेस को भी बढ़ा सकते हो.

बड़े स्तर पर: बड़े स्तर पर बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको अधिक खर्च की आवश्यकता होगी. क्योंकि इस बिजनेस को बड़े स्तर पर शुरू करने के लिए आपको मशीनों की आवश्यकता होगी जिसका टोटल खर्च ₹400000 आएगा. इसके अलावा आपको रॉ मटेरियल, पैकेजिंग ,रजिस्ट्रेशन, दुकान का किराया ,बिजली बिल आदि का खर्च अलग से करना होगा.
इस प्रकार masala udyog को बड़े स्तर पर शुरू करने के लिए कम से कम 4.5 से लेकर ₹500000 की आवश्यकता होगी.

मसाला उद्योग के लिए कच्चा माल ( raw material for masala udyog)

Spice business के लिए आप को कुछ कच्चे माल की आवश्यकता होगी. जैसे काली मिर्च, सुखी मिर्च, धनिया, जीरा, अदरक, पुदीना, इलायची आदि की मदद से अलग-अलग प्रकार के मसाले बनाकर मार्केट में बेचे जाते हैं.
इन सभी रॉ मटेरियल को आप अपने आसपास के लोकल मार्केट से खरीद सकते हो.

मसाला उद्योग के लिए मशीनरी ( masala making machine)

मसाला बनाने के लिए आपको कुछ मशीनों की आवश्यकता होगी. जो कि इस प्रकार है.

  • क्लीनर मशीन की सहायता से रॉ मटेरियल में मिले पत्थर को आसानी से साफ कर सकते हो.
  • ड्रायर: ड्राइवर की सहायता से आप मसालों को अच्छी तरह से सुखा सकते हो.
  • ग्राइंडिंग: यह एक ऐसी मशीन है जिसकी सहायता से आप मसालों को आसानी से पीस सकते हो.
  • पॉवर ग्रेडर: इस मशीन के द्वारा पाउडर को अलग-अलग किया जाता है जिसमें बारीक पाउडर नीचे चला जाता है और बड़ा पाउडर ऊपर जमा हो जाता है इस तरह यह मशीन पाउडर अलग करने का काम करती है.
  • बैक सीलिंग मशीन: इस मशीन की सहायता से मसालों पैकिंग की जाती है. ताकि वह मार्केट में आसानी से बिक सके.

मसाला उद्योग मशीन प्राइस( masala making machine price)

इन सभी मशीनों का पूरा सेटअप लगभग ₹400000 मे लगा सकते हो. जिसमें आपकी सारी मशीनें आ जाएगी. इन मशीनों को आप ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरीकों से खरीद सकते हो. यदि आप ऑनलाइन से खरीदना चाहते हो तो नीचे दी गई लिंक से खरीद सकते हो.

यह भी पढ़े – पापड़ बनाने का बिजनेस केसे शुरू करे

मसाला बनाने की प्रक्रिया ( masala making processing)

मसाला बनाने की प्रक्रिया निम्नानुसार है.

  • सबसे पहले आपको कच्चे माल को खरीद कर लाना होगा.
  • उसके बाद उस कच्चे मसाले में से धूल मिट्टी कंकड़ आदि को साफ कर ले.
  • उसके बाद उसे ड्रायर मशीन की सहायता से अच्छी तरह से सुखा लें.
  • उसके बाद ग्राइंडिंग मशीन की सहायता से आपको मसाला को अच्छी तरह से पीस लेना है.
  • पॉवर ग्रेडर मशीन की सहायता से मसालों को ग्रेडिंग कर ले.
  • अब आप का मसाला बन के तैयार हो गया है इससे अब बिग सीलिंग मशीन की सहायता से पैक कर सकते हो.

घर पर मसाला बनाने का तरीका ( homemade spice making processing)

यदि आप masala udyog को छोटे स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आप अपने घर से भी मसालो को तेयार कर सकते हो. क्यो की हाथों से बने मसाले को लोग बहुत अधिक पसंद करते है. और हाथों से बने मसालो कि सब्जी भी बहुत अधिक स्वादिष्ट होती है. इसलिए हाथों के बने मसलो की मांग भी अधीक होती हैं
घर पर मसाला बनाने के तरीके निम्नानुसार है.

  • सबसे पहले आपको कच्चा माल खरीद के लाना होगा.
  • उसके बाद उस कच्चे मसाले में से आपको हाथों से कंकड़ पत्थर, धूल ,मिट्टी को साफ करना होगा.
  • अब उन मसालों को धूप में अच्छी तरह से सूखा लेना है.
  • मसाला शुख ने के बाद उसे ओखर की मदद से बारीक कुट लिया जाता है.
  • इस तरह आपका masala घर पर बनकर तैयार हो जाएगा.

यह भी पढ़े – रोटी या चपाती बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करे ।

मसालों की पैकेजिंग (packaging)

मसालों की packaging पर आपको बहुत अधिक ध्यान देना होगा. packaging के लिए आपको मार्केट से पाउच या डिब्बा खरीदना होगा. यदि आप चाहो तो पाउज या डिब्बों पर अपना ब्रांड नेम छपवा सकते हो. ब्रांड नेम छपवाने का फायदा यह होगा कि यदि आपका बिजनेस चलने लगता है तो मार्केट में आपके ब्रांड की वैल्यू बन जाएगी. फिर आप अपने प्रोडक्ट को आसानी से बेच सकोगे.
इस तरह आप पैकिंग मशीन की सहायता से मसालों को पैकिंग कर के बेच सकते हो.

मसाला उद्योग रजिस्ट्रेशन ( masala udyog registration)

Masala udyog शुरू करने के लिए आपको कुछ लाइसेंस की आवश्यकता होगी. क्योंकि बिना लाइसेंस के बिजनेस को शुरू करना गैरकानूनी माना जाता है. इसलिए आपको लाइसेंस लेना आवश्यक है.

  • सबसे पहले आपको एमएसएमई उद्योग आधार में पंजीकरण कराना होगा.
  • मसाला एक खाद्य पदार्थ हैं इसलिए आपको FSSAI लाइसेंस लेना होगा. एफएसएसएआई लाइसेंस लेने से आपके मसाले की शुद्धता को प्रमाणित किया जाता है.
  • इसके अलावा आपको ट्रेडमार्क पर आई एस आई लाइसेंस लेने की आवश्यकता होगी.
  • यदि आप अपने बिजनेस को बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आपको फर्म का रजिस्ट्रेशन करवाना होगा.
  • और आपको अपने उद्योग के नाम से किसी बैंक में अकाउंट खुलवाना होगा. और एक फर्म के नाम से पैन कार्ड बनाना होगा. उसके बाद ही आप आसानी से इस बिजनेस को शुरू कर सकते हैं.

मसाला उद्योग की मार्केटिंग ( spice business marketing)

Masala udyog को शुरू करने के लिए मार्केटिंग करनी बहुत ही जरूरी है. क्योंकि जब आप नया नया बिजनेस स्टार्ट करते हो तो आपका बिजनेस और आपका प्रोडक्ट नया नया होता. जिसके बारे में लोगों को बिल्कुल भी पता नहीं होता है. इसीलिए आपको अपने प्रोडक्ट को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने के लिए अपने बिजनेस की मार्केटिंग करनी होगी.
मार्केटिंग करने के लिए आप निम्न तरीकों को अपना सकते हो.

  • सबसे पहले आपको अपने बिजनेस मार्केटिंग करने के लिए ब्रांड नेम चुनना होगा जिससे लोगों को पता चल सके कि यह प्रोडक्ट किसका है.
  • उसके बाद आप सोशल मीडिया के सहायता से अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग कर सकते हो जैसे इंस्टाग्राम, फेसबुक व्हाट्सएप, टेलीग्राम आदि जगह पर अपने बिजनेस की पोस्ट बनाकर भेज सकते हो.
  • यदि आप बिजनेस को बड़े स्तर पर शुरू करना चाहते हो तो आपको इसके लिए बड़े-बड़े प्लेटफार्म पर मार्केटिंग करने की आवश्यकता होगी. जैसे यूट्यूब,गूगल टीवी आदि प्लेटफार्म पर आप अपने बिजनेस की ऐड चलवा कर मार्केटिंग कर सकते हो .
  • इस तरह आप अपने बिजनेस की मार्केटिंग करके अधिक से अधिक लोगों तक अपने प्रोडक्ट को पहुंचा सकते हो.

यह भी पढ़े – पानीपुरी का व्यवसाय केसे शुरू करे ?

मसाले को कहा पर बेचे

मसाले बेचने के कुछ निम्न तरीके इस प्रकार हैं –

  • धोक विक्रेता के रूप में बेच सकते हो.
  • होल सेल मसाला बाजार में भी आप अपने मसाले को बेच सकते हो.
  • बड़ी बड़ी दुकान पर बात कर के रिटेल में बेच सकते हो.
  • बड़े बड़े रेटोरेंट या ढाबा पर भी आप अपने मसाले को बेच सकते हो.
  • इसके अलावा आप अपनी खुद की वेबसाईट बाना कर भी अपने मसाले को बेच सकते हो.
  • यदि आप चाहो तो Amazon, Flipkart जैसी पेल्टफार्म पर भी आप अपने प्रोडक्ट को बेच सकते हो.
  • इस तरह आप बहुत ही आसानी से मसाले को बेच सकते हो.

मसाला उद्योग में लाभ (spice industry Profit)

यदि हम masala business in hindi में लाभ की बात करे तो यह पूरी तरह आप के ऊपर निर्भर करता है. कि आप इस बिजनेस किस तरह चला रहे हो. यदि आप अपने मसाले को मार्केट में अच्छी तरह बेच सकते और लोग आपके मसाले को पसंद कर रहे है. तो आप इस बिजनेस से 30 से 40 हजार रूपए महिना कमा सकते हो. यदि आप के मसाले की क्वालिटी अच्छी है तो धीरे धीरे कर के आप अपने प्रॉफिट को बड़ा सकते हो.

निष्कर्ष

इस आर्टिकल मे वह सारी जानकारी बताई गई है जो एक नए व्यक्ती को masala udyog शूरू करने के लिए पता होनी चाहिए. अगर फिर भी आपके मन में कोई सवाल है तो हमें कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है.

अगर उद्यमी को हमारे द्वारा masala business ideas in hindi में बताई गई जानकारी पसंद आई है तो इसे कृपया अपने दोस्तों के शाथ शेयर जरूर करें.

FAQ

मसाला उद्योग केसे शुरू करे ?

कच्चे मसाला को धूप में सुखा कर मसाले मे से दुप मिट्टी को साफ कर लेना है उसके बाद मसाले को बारीक कूट लेना है इस प्रकार आप का मसाला तेयार हो जाता हैं.

2 मसला बिजनेस को शुरू करने में कितनी लागत लगेगी ?

छोटे स्तर पर शुरू करने के लिए 30 से 40 हजार रुपए की आवश्यकता
बड़े स्तर पर शुरू करने के लिए 4.5 से 5 लाख रुपए की आवश्यकता होगी.

मसाला उद्योग में कितना मुनाफा कमाया जा सकता हैं ?

इस बिजनेस मे 40 से 50 हजार रुपए कमा सकते हो.

4 मसाला उद्योग में कौन-कौन सी मशीनों की आवश्यकता होगी ?

ड्रायर क्लीनर ,ग्राइंडिंग, पॉवर ग्रेडर, बेग सीलिंग आदि मशीनों की आवश्यकता होगी.

5 मसाला उद्योग के लिए मशीन कहां से खरीदें ?

इस बिजनेस के लिए मशीन आप ऑनलाइन ऑफलाइन दोनो तरीको से खरीद सकते हो.

Leave a Comment